Best place to visit in mumbai

  1. Marine Drive (मरिन ड्राइव):-मरीन ड्राइव मुंबई के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक हैं, जो पर्यटन स्थल में प्रथम स्थान पे आता है जिसका निर्माण सन 1920 में हुआ था। मरीन ड्राइव यह अरब सागर के किनारे-किनारे, नरीमन प्वाइंट पर सोसाइटी लाइब्रेरी और मुंबई राज्य सेंट्रल लाइब्रेरी से लेकर चौपाटी से होते हुए मालाबार हिल तक के क्षेत्र में फैला हुई है। दोस्तो मरीन ड्राइव को शानदार चौराहों पर लगी जगमगाती स्ट्रीट लाइट्स रात के समय इस जगहों को काफी आकर्षक बना देती है,इसीलिए इस जगह को क्वीन्स नैकलेस के नाम से भी जाना जाता है। रात के समय ऊँची ऊँची बिल्डिंगों से जब आप मरीन ड्राइव देखेंगे तो आप इसकी खूबसूरती को बस निहारते ही रह जायेंगे। इसे लवर्स पॉइंट भी कहा जाता है। यहाँ के पत्थरों की आकृति देखते ही बनती है, जो मानव निर्मित है।
  2. Gateway of India (गेटवे ऑफ़ इंडिया):- मुम्बई के दक्षिण में समुद्र तट पर स्थित है, जिसकी ऊंचाई 26 मीटर यानी 85 फिट है। इस प्रवेशद्वार के पास ही पर्यटकों के समुद्र भ्रमण हेतु नौका-सेवा भी उपल्ब्ध है। प्रवेशद्वार का निर्माण राजा जॉर्ज पंचम और रानी मैरी के आगमन 2 दिसंबर, 1911 की यादगार में हुआ था। इसके वास्तुशिल्पी जॉजॅ विंटैट थे। यह सन् 1924 में बन कर तैयार हुआ। दोस्तो आप जाए तो एक बार जरूर देखें । गेट वे ऑफ़ इंडिया के पास ही होटल ताज है,जो एक दर्शनीय स्थल से कम नहीं है। गेट वे ऑफ़ इंडिया से होटल ताज का सीन देखने लायक होता है, इसे भी लोग देखने दूर दूर से जाते है,होटल ताज का निर्माण 1902 में जमशेद टाटा से कराया था। 2008 में आतंकवादीयों द्वारा 26/11 का हमला भी यही हुआ था।
  3. Elephanta Caves (एलिफेंटा की गुफा):- भारत में मुम्बई के गेट वे ऑफ इण्डिया से लगभग 12 KM दूर स्थित एक स्थल है जो अपनी कलात्मक गुफाओं के कारण प्रसिद्ध है। यहाँ कुल 7 गुफाएँ हैं। मुख्य गुफा में 26 स्तंभ हैं,जिसमें शिव को कई रूपों में दिखाया गया हैं। यहां की मंदिर पहाड़ियों को काटकर बनाये गए हैं। यहाँ हिन्दू धर्म के अनेक देवी देवताओं कि मूर्तियाँ हैं। यहाँ भगवान शंकर की 9 बड़ी-बड़ी मूर्तियाँ हैं जो शंकर जी के विभिन्न रूपों तथा क्रियाओं को दिखाती हैं। इनमें शिव की त्रिमूर्ति प्रतिमा सबसे आकर्षक है। यह मूर्ति 23 फीट लम्बी तथा 17 फीट ऊँची है। इस मूर्ति में भगवान शंकर के तीन रूपों का चित्रण किया गया है। दूसरी मूर्ति शिव के पंचमुखी परमेश्वर रूप की है जिसमें शांति तथा सौम्यता का राज्य है।
    एलिफेंटा नाम पुर्तगालियों द्वारा यहाँ पर बने पत्थर के हाथी के कारण दिया गया था। इसका ऐतिहासिक नाम घारपुरी है। यूनेस्को द्वारा एलीफेंटा गुफाओं को विश्व धरोहर घोषित किया गया है।
  4. Chhatrapati Shivaji Terminus (छत्रपती शिवाजी महाराज टर्मिनल्स):- पूर्व में जिसे विक्टोरिया टर्मिनस कहा जाता था, एवं अपने लघु नाम वी.टी.से अधिक प्रचलित है। इसके वास्तुकार फ्रेडरिक विलियम स्टीवन्स थे। यह भारत की वाणिज्यिक राजधानी मुंबई का एक ऐतिहासिक रेलवे-स्टेशन है, जो मध्य रेलवे, भारत का मुख्यालय भी है। यह भारत के व्यस्ततम स्टेशनों में से एक है। इसे पूरा होने में दस वर्ष लगे। इस स्टेशन की इमारत विक्टोरियन गोथिक शैली में बनी है। इस इमारत में विक्टोरियाई इतालवी गोथिक शैली एवं परंपरागत भारतीय स्थापत्यकला का संगम झलकता है। इसके अंदरूनी भागों में लकड़ी की नकासी की हुई टाइलें, लौह एवं पीतल की अलंकृत मुंडेरें व जालियां, टिकट-कार्यालय की ग्रिल-जाली व बड़ा सीढ़ीदार जीने का रूप, बॉम्बे स्कूल ऑफ आर्ट के छात्रों का कार्य है। यह स्टेशन अपनी उन्नत संरचना व तकनीकी विशेषताओं के साथ, उन्नीसवीं शताब्दी के रेलवे स्थापत्यकला आश्चर्यों के उदाहरण है।
    छत्रपती शिवाजी महाराज टर्मिनलस), पूर्व में जिसे विक्टोरिया टर्मिनस कहा जाता था, एवं अपने लघु नाम V.T.या C.S.T. से अधिक प्रचलित है।
  5. Sidhivinayak Mandir ( सिद्धिविनायक मंदिर ):- सिद्धिविनायक मन्दिर मुम्बई स्थित एक प्रसिद्ध गणेशमन्दिर है। सिद्घिविनायक, गणेश जी का सबसे लोकप्रिय रूप है। कहते हैं कि सिद्धि विनायक की महिमा अपरंपार है, वे भक्तों की मनोकामना को तुरन्त पूरा करते हैं।समृद्धि की नगरी मुंबई के प्रभा देवी इलाके का सिद्धिविनायक मंदिर उन गणेश मंदिरों में से एक है, जहां सिर्फ हिंदू ही नहीं, बल्कि हर धर्म के लोग दर्शन और पूजा-अर्चना के लिए आते हैं। महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के सिद्ध टेक के गणपति भी सिद्धिविनायक के नाम से जाने जाते हैं और उनकी गिनती अष्टविनायकों में की जाती है। महाराष्ट्र में गणेश दर्शन के आठ सिद्ध ऐतिहासिक और पौराणिक स्थल हैं, जो अष्टविनायक के नाम से प्रसिद्ध हैं। लेकिन अष्टविनायकों से अलग होते हुए भी इसकी महत्ता किसी सिद्ध-पीठ से कम नहीं। सिद्धि विनायक मंदिर की इमारत पांच मंजिला है।
  6. Hazi Ali Dargaah (हाजी अली दरगाह):- मुंबई के वरली तट के निकट यह अरब सागर के बीच में स्थित हैं और किनारे से 500 यार्ड्स की दूरी पर स्थित हैं।
    इसे सय्यद पीर हाजी अली शाह बुखारी की स्मृति में सन 1431 में बनाया गया था। यह दरगाह मुस्लिम एवं हिन्दू दोनों समुदायों के लिए विशेष धार्मिक महत्व रखती है। यह मुंबई का महत्वपूर्ण धार्मिक एवं पर्यटन स्थल भी है। दोस्तो आपको बता दूँ की बॉलीवुड की फ़िज़ा फ़िल्म में एक कव्वाली यही पे बनाई गई है। और प्रसिद्ध हिंद फीचर फिल्म कुली का अंतिम दृश्य हाजी अली दरगाह में ही फिल्माया गया हैं। इस दरगाह को सूफी संत सय्यद पीर हाजी अली शाह बुखारी की स्मृति में बनाया गया था। हाजी अली ट्रस्ट के अनुसार हाजी अली उज़्बेकिस्तान के बुखारा प्रान्त से सारी दुनिया का भ्रमण करते हुए भारत पहुँचे थे।
  7. Water Kindom (वाटर किंगडम):- दोस्तो वॉटर किंगडम देश का सबसे बड़ा और मुंबई का बेस्ट और सबसे पुराना वॉटर पार्क है। आपको जानकर हैरानी होगी कि वॉटर किंगडम में हर साल करीब 15 लाख टूरिस्ट्स मुंबई की गर्मी से बचने के लिए अपने फ्रेंड्स और फैमिली मेंबर्स के साथ यहां आते हैं। यह वॉटर पार्क साल के 365 दिनों खुला रहता है और यहां इंटरनैशनल स्टैंडर्स के ढेरो वॉटर राइड्स मौजूद हैं।
    दोस्तो इसका लोकेशन- बोरिवली वेस्ट, बे ब्यू होटल के पास, मुंबई दोस्तो इसकी टिकट की कीमत बच्चे- 699 रुपये और वयस्क- 949 रुपये है। कभी मुम्बई जाए तो जरूर इस वाटर पार्क का आनन्द ले।
  8. Bandra Bandstand (बांद्रा बैंडस्टैंड):- होटल समुद्र के सामने का एक अन्य पर्यटन स्थल बैंडस्टैंड है जहाँ कुछ कॉफीशॉप, पूर्ण रूप से प्रकाशित घूमने का स्थान, मुंबई की चाय,बर्गर,औऱ अन्य फास्टफूड आदि उपलब्ध मिलते है। बैंड स्टैंड से कुछ ही दूरी पर कुछ प्रसिद्ध बॉलीवुड हस्तियों के घर हैं जैसे शाहरुख खान का मन्नत और गैलेक्सी टावर में सलमान खान का घर। बैंड स्टैंड को मुंबई का लवर्स पॉइंट भी कहा जाता है क्योंकि कॉलेज और स्कूल जाने वाले विद्यार्थी अपनी क्लास छोड़कर बड़ी संख्या में इधर में अपनी गर्लफ्रैंड बॉयफ्रेंड के साथ आकर समय गुज़रते है।
  9. Goregaov Film City (गोरेगांव फिल्म सिटी):- गोरेगांव फिल्म सिटी या दादासाहेब फालके चित्रनगरी एक ऐसी जगह है जहाँ कई बॉलीवुड फिल्में हर शुक्रवार को अपना इतिहास बनाती हैं।आप कोई टूरिस्ट हों, यहाँ काम करते हों या यहाँ पर काम करने वाले किसी कर्मचारी से जान पहचान हो। दोस्तों फीचर फिल्मों की शूटिंग के साथ-साथ यह डेली शो की शूटिंग के लिए भी एक प्रमुख केन्द्र है। यहाँ हर सीन के लिए काफी महँगे सेट तैयार किये जाते है।यहाँ कई विज्ञापनों की शूटिंग भी की जाती है। फिल्म सिटी में शूटिंग के लिये यहाँ पर कई कृत्रिम झीलें, मैदान और बड़े हॉल हैं। इसी जगह बी.आर. चोपड़ा ने महाभारत नाटक की शूटिंग की थी। और अभी भी बीतते दिनों के साथ यहाँ नया इतिहास बनने को तैयार है। फिल्म सिटी मुंबई पता:- फिल्म सिटी रोड, पोस्ट ऐरे, गोरेगांव (पूर्व), मुंबई, महाराष्ट्र 400065 प्रवेश शुल्क: निशुल्क है लेकिन आप कोई टूरिस्ट हों, यहाँ काम करते हों या यहाँ पर काम करने वाले किसी कर्मचारी से जान पहचान हो। तभी आप जा सकते है। यदि आपको जाना हो तो दिन के समय जाए।
  10. Sanjay Gandhi National Park (संजय गाँधी नेशनल पार्क):- इसे पहले बोरीवली नेशनल पार्क के नाम से जाना जाता था। यह मुंबई की उत्तर दिशा की ओर उपनगरीय क्षेत्र में स्थित हैं, जहाँ बड़े स्तर पर वन्य जीवन का संरक्षण किया जाता हैं। यह देश में स्थित अन्य राष्ट्रीय उद्यानों की तरह बहुत बड़ा तो नहीं हैं, परन्तु यहाँ जो वन्य प्राणियों और वन्य जीवन संरक्षण का काम किया जा रहा हैं, वह काबिल – ए – तारीफ हैं। और यही इसकी ओर आकर्षण का कारण हैं। शहर की भाग – दौड़ भरी जिंदगी से दूर यहाँ प्रकृति के बीच समय गुजरने के लिए यह उत्तम स्थान हैं।

Leave a Comment